HomeLifestyle

बॉयफ्रेंड बनाने के तरीके & लड़के पटाने के टिप्स: Boyfriend Kaise Banaye

Like Tweet Pin it Share Share Email

बॉयफ्रेंड कैसे बनायें- How to Get a Boyfriend in Hindi

सच्चाई तो ये है कि कोई भी इंसान कभी भी अकेला तो नहीं रहना चाहेगा और हर कोई ये भी चाहता ही है कि उसकी लाइफ में भी कोई न कोई ऐसा इंसान हो जिससे कि वो अपने मन कि सारी बातों को उससे शेयर कर सके और आप भी यही चाहती होंगी कि जब आप उस व्यक्ति  के गले लगें तब आपको एक अपनेपन का अहसास हो और उसकी बाहों में आपको सुकून मिले |

अगर आप बॉयफ्रेंड की तलाश कर रही हैं लेकिन उसे हासिल नहीं कर पा रही है तो हम आपको कुछ  ऐसी बातें बताएंगे जिससे की आपको बॉयफ्रेंड बनाये में कोई भी परेशानी नहीं होगी –

वैसे तो हर लड़की के सामने दो तरह की स्थिति होती है –

  • बॉयफ्रेंड की तलाश |
  • लड़का पसंद है लेकिंन उसको पटाना चाहती है |

 

पहली वाली स्थिति में आप

  • खुद से पहल करे
  • नए लोगों से मिलिये
  • क्लबों में जाइए
  • नए नए लोगों से बातें करिए
  • अच्छे मित्र बनिए
  • लोगो को अपनी ओर आकर्षित करिये
  • लोगो के साथ छेड़ छाड़ करिए

 

दूसरी वाली स्थिति में आप

अगर आप ऑफिस में हो या कॉलेज में , या वो लड़का जो आपको तो पसंद है वो चाहे आपके घर के आस पास का हो , उससे बात करने के बहाने ढूंढिये |

खुद से पहल करके उससे अपने  अहसास दिलाइये और  उसके साथ समय बिताने का बहाना खोजें |

लड़के से मिलते समय किसी दूसरी लड़कियों के बारे में उससे गपशप मत करिए, लड़के उससे चिढ़ते हैं।

उससे बात करने के बहाने निकले और उसको चाय के लिए पूछे, यदि वह अभी आपके साथ डेट पर नहीं जाना चाहता है तो उसपर दबाव मत डालिए। जब वह तैयार होगा, तब स्वयं ही आपसे चलने को कहेगा।

स्वयं ही बनी रहिए और उसके साथ छेड़ छाड़ करके आनंद लीजिये!

अपनी पसंद का काम करने का दबाव उसपर मत डालिए।

यह पता लगाने के लिए कि क्या लड़का आपको पसंद करता है, एकांत में जाइए और चर्चा करिए कि वह आपके बारे में क्या सोचता है।

अगर लड़का आपसे कुछ पूछे तो उसकी बात को पहले ध्यान से सुनते हुए उसका उत्तर दे |

जो आप नहीं हैं, वह बनने का प्रयास मत करिए!

उसके मित्रों से मिलिये |

कभी भी, उसपर, कुछ भी करने का दबाव मत डालिए, इसलिए हमेशा पहले उसकी राय पूछिए।

अपनी प्रथम डेट पर ऐसे व्यवहार करिए जैसे कि आप अपने घनिष्ठतम मित्र के साथ हों।

हाँ, लड़कियां पहला कदम ले सकती हैं, मगर ज़रा धीरे से लीजिये।

कुछ विशेष चीज़ें करके, जैसे उसके जन्मदिन को याद रख कर उसे विशिष्ट महसूस होने का अवसर दीजिये।

आप उसे आँख मार सकती हैं, या उसकी बातचीत में शामिल हो सकती हैं या आप केवल एक शर्मीली मुस्कुराहट दे सकती हैं।

उसे छोड़ने में हिचकिचाइए मत। साथ ही, न तो बहुत चिपकू बनिए और न ही अंकुश रखने वाली।

न तो नख़रा करिए, और न ही अशिष्ट व्यवहार।

यदि वह आपसे बाहर चलने को कहता है तो डरिए मत। उसे दिखाइए कि आप प्रसन्न हैं और बाहर जाना चाहती हैं।

loading...

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eleven + 7 =