HomeEssay

Valentine Day History in Hindi : वेलेंटाइन दिवस का इतिहास के बारे में

Like Tweet Pin it Share Share Email

History of Valentine Day in Hindi वेलेंटाइन डे का इतिहास क्या है?

वैलेंटाइन दिवस या संत वैलेंटाइन दिवस, एक अवकाश दिवस है, जिसे 14 फ़रवरी को अनेकों लोगों द्वारा दुनिया भर में मनाया जाता है। अंग्रेजी बोलने वाले देशों में, ये एक पारंपरिक दिवस है, जिसमें प्रेमी एक दूसरे के प्रति अपने प्रेम का इजहार वैलेंटाइन कार्ड भेजकर, फूल देकर, या मिठाई आदि देकर करते हैं। ये छुट्टी शुरुआत के कई क्रिश्चियन शहीदों में से दो, जिनके नाम वैलेंटाइन थे, के नाम पर रखी गयी हैउच्च मध्य युग में, जब सभ्य प्रेम की परंपरा पनप रही थी, जेफ्री चौसर के आस पास इस दिवस का सम्बन्ध रूमानी प्रेम के साथ हो गया।

ये दिन प्रेम पत्रों के “वैलेंटाइन” के रूप में पारस्परिक आदान प्रदान के साथ गहरे से जुड़ा हुआ है। आधुनिक वैलेंटाइन के प्रतीकों में शामिल हैं दिल के आकार का प्रारूप, कबूतर और पंख वाले क्यूपिड का चित्र.19वीं सदी के बाद से, हस्तलिखित नोट्स की जगह बड़े पैमाने पर बनाने वाले ग्रीटिंग कार्ड्स ने ले ली है। ग्रेट ब्रिटेन में उन्नीसवीं शताब्दी में वैलेंटाइन का भेजा जाना एक फैशन था और, 1847 में, एस्थर हौलैंड ने अपने वोर्सेस्टर, मैस्साचुसेट्स स्थित घर में ब्रिटिश मॉडलों पर आधारित घर में ही बने कार्ड्स द्वारा एक सफल व्यवसाय विकसित कर लिया था। 19 वीं सदी के अमेरिका में वैलेंटाइन कार्ड की लोकप्रियता जहां कई वैलेंटाइन कार्ड अब सामान्य ग्रीटिंग कार्ड प्यार की घोषणाओं के बजाय, संयुक्त राज्य अमेरिका में छुट्टियों के भविष्य व्यावसायीकरण के एक अग्रदूत था रहे हैं।

Valentine Day Essay in Hindi Meaning वेलेंटाइन डे कब मनाया जाता है?

अमेरिका ने ग्रीटिंग कार्ड एसोसिएशन का अनुमान है कि लगभग एक अरब वैलेंटाइन हर साल पूरी दुनिया में भेजे जाते हैं, जिसके कारण,क्रिसमस के बाद, इस छुट्टी को कार्ड भेजने वाले दूसरे सबसे बड़े दिवस के रूप में जाना जाता है। एसोसिएशन का अनुमान है कि औसतन अमरीका में पुरुष महिलाओं के मुकाबले दुगना पैसा खर्चा करते हैं।

कई शुरुआती क्रिश्चियन शहीदों के नाम वैलेंटाइन थे। 1969 तक, कैथोलिक चर्च ने औपचारिक रूप से ग्यारह वैलेंटाइन दिनों को मान्यता दी। 14 फ़रवरी को सम्मानित वैलेंटाइन हैं रोम के वेलेटाइन वलेंतिनुस प्रेस्ब.म. रोमे) और टेर्नी के वैलेंटाइन (वलेंतिनुस एप. इन्तेराम्नेंसिस म. रोमे). रोम के वैलेंटाइन रोम के एक पादरी थे जिनको लगभग 269 AD में शहादत मिली और वाया फ्लेमिनिया में उन्हें दफनाया गया था। उनके अवशेष रोम के सेंट प्राक्स्ड चर्च में और डब्लिन, आयरलैंड के व्हाइटफ्रियर स्ट्रीट कार्मेलाईट चर्च में हैं। टेरनी के वैलेंटाइन AD 197 में इन्तेरामना (आधुनिक टेरनी) के बिशप बने और कहा जाता है कि औरेलियन सम्राट के उत्पीडन के दौरान उनकी हत्या की गयी थी। उन्हें भी वाया फ्लेमिनिया में ही गाड़ा गया है, लेकिन गाड़ने का स्थान रोम के वैलेंटाइन से अलग है। उसके अवशेष टेर्नी में संत वैलेंटाइन के बेसिलिका (बेसिलिका डी सैन वेलेन्टीनो) पर हैं।

कैथोलिक विश्वकोश एक तीसरे संत के बारे में भी जिक्र करता है जिनका नाम वैलेंटाइन था और जिनका जिक्र शुरुआती शहादतों में 14 फरबरी की तारीख के अन्दर आता है। उनकी शहादत अफ्रीका में अपने अनेकों साथियों के साथ हुई थी, लेकिन उनके बारे में ज्यादा कुछ पता नहीं है।

इनमें से किसी भी शहीद की शुरुआती मूल मध्यकालीन जीवनियों में रोमानी तत्वों का कोई जिक्र नहीं है। जिस समय तक एक सेंट वैलेंटाइन का सम्बन्ध चौदहवीं सदी में प्रेम के साथ जुड़ता, रोम के वैलेंटाइन और टेरनी के वैलेंटाइन के बीच के भेद बिलकुल खो गए। वर्तमान संतों के रोमन कैथोलिक कैलेंडर के 1969 के संशोधन में, फ़रवरी 14 पर संत वैलेंटाइन के फीस्टडे को जनरल रोमन कैलेंडर से निकाल कर विशिष्ट कैलेंडरों (स्थानीय या फिर राष्ट्रीय भी) में निम्नलिखित कारणों से डाल दिया गया: हालाँकि सेंट वैलेंटाइन की यादगार प्राचीन है, उसे विशिष्ट कैलेंडरों के लिए छोड़ दिया गया, क्योंकि, उनके नाम के अलावा, सेंट वैलेंटाइन के बारे में कुछ भी ज्ञात नहीं है सिवाय इसके की इन्हें वाया फ्लेमिनिया में १४ फरबरी को दफनाया गया था। फीस्ट डे आज भी बाल्ज़न(माल्टा) में मनाया जाता है जहाँ ऐसा दावा किया जाता है कि सेंट के अवशेष मिले हैं और पूरी दुनिया में भी उन परम्परावादी कैथोलिकों के द्वारा मनाया जाता है जो पुराने प्री- वेटिकन II कैलेंडर को मानते हैं।

शुरुआती मध्यकालीन एक्टा का उद्धरण बीड के द्वारा किया गया था और लेगेंडा ओरिया में संक्षेप में व्याख्यान किया गया है। उस संस्करण के अनुसार, सेंट वैलेंटाइन का क्रिश्चियन के नाते उत्पीडन किया गया था और रोम के सम्राट क्लौडीयस II के द्वारा व्यक्तिगत रूप से पूछ ताछ की गयी थी। क्लोडिअस वैलेंटाइन से प्रभावित थे और उनके साथ चर्चा की थी, कोशिश की थी कि रोमन पागानिस्म में उनका धर्मान्तरण हो जाये ताकि उनकी जान बचायी जा सके। वैलेंटाइन से इनकार कर दिया और उल्टा कोशिश की कि क्लोडिअस क्रिस्चियन बन जाये.इस वजह से, उसे मार डाला गया था। ऐसा कहा जाता है कि मारे जाने से पहले उन्होनें जेलर की अंधी बेटी को ठीक करने का चमत्कार किया था।

लेगेंडा ओरिया अभी भी प्रेम के साथ कोई सम्बन्ध नहीं जोड़ पा रही थी, इसलिए दंतकथाओं को आधुनिक समय में जोड़ दिया गया। इनमें वैलेंटाइन को एक ऐसे पादरी के रूप में दिखाया गया जिसने रोमन सम्राट क्लोडिअस II के एक कानून को मानाने से इंकार कर दिया था जिसके अनुसार जवान लड़कों को शादी न करने का हुक्म दिया गया था। सम्राट ने संभवतः ऐसा अपनी सेना बढ़ाने के लिए किया होगा, उसका ये विश्वास रहा होगा की शादीशुदा लड़के अच्छे सिपाही नहीं होते हैं। पादरी वैलेंटाइन इस बीच चुपके से जवान लोगों की शादियाँ करवाया करते थे। जब क्लोडिअस को इस बारे में पता चला, उसने वैलेंटाइन को गिरफ्तार करवाकर जेल में फेंक दिया। इस सुन्दर दंत कथा को और अलंकृत करने के लिए कुछ अन्य किस्से जोड़े गए। मारे जाने से एक शाम पहले, उन्होंने पहला “वैलेंटाइन” स्वयं लिखा, उस युवती के नाम जिसे उनकी प्रेमिका माना जाता था। ये युवती जेलर की पुत्री थी जिसे उन्होंने ठीक किया था और बाद में मित्रता हो गयी थी। ये एक नोट था जिसमें लिखा हुआ था “तुम्हारे वैलेंटाइन के द्वारा”

ऐसा ही एक दिवस प्राचीन फारस में वैलेंटाइन दिवस के भी बहुत पहले से मनाया जाता था। इसे प्रेम और प्रेमियों के दिवस के रूप में जाना जाता था।

वेलेंटाइन डे पर सिंगल होने के बड़े फायदे Valentine Day Ideas in Hindi

14 फरवरी (वेलेंटाइन डे) का क्रेज़ लोगों के अन्दर फरवरी महिने के शुरुआत से ही दिखाई देने लगता है। क्योंकि लोग वेलेंटाइन वीक के हर दिन को खास तरीके से मानना चाहते हैं। लेकिन ऐसे में कुछ सिंगल लोग मन ही मन झुलसे हुए और बड़े ही गुस्से की भावना से जूझ रहे होते हैं। लेकिन इसमें परेशान होने की कोई बात नहीं होती है क्योकि मैं भी सिंगल हूं और आपको ये बताना चाहता हूं कि सिंगल होने के भी कई बहुत फायदे होते हैं, अगर आप सिंगल हैं और गर्लफ्रेंड/बॉयफ्रेंड के नहीं होने का शोक मना रहे हैं तो हम आपको बताते है कि सिंगल होने के भी हमारे शरीर को कई बड़े फायदे होते हैं और इन्हें सुनने के बाद आप भी खुशी से झूम उठेंगे और सिंगल रहते हुए Valentine’s day मना पाएंगे। तो चलिए जानें कि क्या हैं ये बड़े फ़ायदे  ?

Single हैं तो चैन की नींद ले सकेंगे

आप भी जानते है कि जब दो लोग एक जगह होते है तो कोई फूल वॉल्यूम में गाने सुनने पसंद करता है तो कोई टीवी देखना पसंद करता है। और अगर आपका साथी खर्राटों लेता है या फूल वॉल्यूम में मूवी देखता है तो आपकी नींद हराम हो जाती हैं जो कि आपकी सेहत के लिए हानिकारक साबित होता हैं । एक अध्ययन में पाया गया कि, साथी के साथ सोने वाले लोगों की तुलना में अकेले सोने वाले लोग अधिक गहरी नींद ले पाते हैं और उनके बीच रात में जागने की आशंका 60 प्रतिशत तक कम होती है। तो इस नतीजे से आप इस वेलेंनटाइन डे पर आप चैन की नींद ले पाएंगे ।

दोस्तों से बनी रहेगी नज़दीकी

ये बात तो आप भी जानते है लेकिन विज्ञान के अनुसार, सामाजिक नेटवर्क में रहने वाले लोग लंबा जीवन जीते हैं और कम बीमार पड़ते हैं। यदि आप सिंगल हैं तो आप अपने दोस्तों के साथ अधिक समय बिता सकते हैं। ऐसे लोग जिनकी शादी नहीं हुई है, शादी शुदा लोगों की तुलना में अधिक खुश मिजाज रहते है क्योंकि वह अपने मित्रों, पड़ोसियों और भाई-बहनों के साथ घनिष्ठ संबंध होते हैं। तो आप सिंगल होने पर इस वेलेंटाइन डे पर ज्यादा खुश रह सकते हैं।

वेलेंटाइन डे पर सिंगल होने के बड़े फायदे Valentine’s Day Ideas For Singles in Hindi

नियमित और अच्छा वर्कआउट कर सकेंगे

एक अध्ययन के अनुसार ये साबित हो गया है कि ऐसे लोग जिन्होंने कभी शादी नहीं की ,रिश्ते में रहने वाले (शादी-शुदा, विधवा या तलाकशुदा) लोगों की तुलना में ज्यादा बेहतर वर्कआउट कर पाते हैं। जिससे हमारा शरीर मजबूत भी बना रहता हैं …..सिंगल होने के ये फायदा वाकई कमाल का है।

तनाव से दूर

अगर आप सिंगल है तो आप तनाव से बहुत दूर है क्योंकि साथी के साथ रहना इतना आसान नहीं होता है । रोज़ रोज़ साथी की कोई न कोई इच्छा होती ही है जो कि आपको पूरी भी करनी पड़ती है.. और अगर आप किसी वजह से उस इच्छा को पूरा नहीं कर पाये तो फिर तनाव चालू ।

loading...

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 + thirteen =