HomeHealth

Yaddasht Kaise Badaye याददाश्त(स्मरण शक्ति) कैसे बढ़ाएं

Like Tweet Pin it Share Share Email

लोगों में समय के साथ भूलने की बीमारी हो जाती है जैसे कि कोई सामान बाजार से लाना था और बाजार गए भी लेकिन बिना सामान लाये ही घर वापस आ गये | घर आकर याद आता है क्या सामान लाना था | मोबाईल हाथ में लिए है लेकिन सारा घर मोबाईल खोज रहें है | जैसे कोई जानकारी याद करने की कोशिश कर रहें है और ऐसा लग रहा है कि आपको याद है लेकिन मुह में नहीं आ रहा है | इस तरह की बीमारियों को आप घरेलू नुस्खों से ठीक कर सकतें है |

याददाश्त बढ़ाने के घरेलु नुस्खे:

ब्राह्मी: ब्राह्मी का रस या चूर्ण पानी या मिश्री के साथ लेने से याददाश्त तेज होती है। ब्राह्मी के तेल की मालिश से दिमागी कमजोरी, खुश्की दूर होती है।

फल: लाल और नीले रंगों के फलों का सेवन भी याददाश्त बढ़ाने में मददगार होते हैं, जैसे सेब और ब्लूबेरी खाने से भूलने की बीमारी दूर होती है।

सब्जियां: बैंगन का प्रयोग करें। इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व दिमाग के टिशू को स्वस्थ्य रखने में मददगार होते हैं। चुकंदर और प्याज भी दिमाग बढ़ाने में अनोखा काम करते हैं।

याददाश्त कैसे बढ़ाएं, Yaddasht Kaise Badaye Hindi me

गेहूं: गेहूं के जवारे का जूस पीने से याददाश्त बढ़ती है। गेहूं से बने हरीरा में शक्कर और बादाम मिलाकर पीने से भी स्मरण शक्ति बढ़ती है।

अखरोट: अखरोट में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स व विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर में मौजूद प्राकृतिक रसायनों को नष्ट होने से रोककर रोगों की रोकथाम करते हैं। इसमें उच्च मात्रा में प्रोटीन मौजूद होता है। रोजाना अखरोट के सेवन से याददाश्त बढ़ती है।

प्राणायाम: रोज सुबह 5 से 15 मिनट प्राणायाम करने से भी याददाश्त बढ़ती है तथा मानसिक दुर्बलता भी दूर होती है।

तो दोस्तों अगर आपको “याददाश्त” से जुड़ा कोई सवाल परेशान कर रहा है तो आप हमे कमेन्ट करके बता सकते है  और शेयर करना न भूलें ।

loading...

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × 2 =