HomeHealth

Good Sleeping Tips in Hindi : गहरी नींद के लिए क्या करें & नींद न आने के उपाय

Like Tweet Pin it Share Share Email

Tips for Good Sleeping in Hindi अच्छी गहरी नींद कैसे ले

नींद अपेक्षाकृत निलंबित संवेदी और संचालक गतिविधि की चेतना की एक प्राकृतिक बार-बार आनेवाली रूपांतरित स्थिति है, जो लगभग सभी स्वैच्छिक मांसपेशियों की निष्क्रियता की विशेषता लिए हुए होता है। इसे एकदम से जाग्रत अवस्था, जब किसी उद्दीपन या उत्तेजन पर प्रतिक्रिया करने की क्षमता कम हो जाती है और अचेतावस्था से भी अलग रखा जाता है, क्योंकि शीत नींद या कोमा की तुलना में नींद से बाहर आना कहीं आसान है। नींद एक उन्नत निर्माण क्रिया विषयक (एनाबोलिक) स्थिति है, जो विकास पर जोर देती है और जो रोगक्षम तंत्र (इम्यून), तंत्रिका तंत्र, कंकालीय और मांसपेशी प्रणाली में नयी जान डाल देती है। सभी स्तनपायियों में, सभी पंछियों और अनेक सरीसृपों, उभयचरों और मछलियों में इसका अनुपालन होता है।

नींद न आना

विकसित होने और ठीक से काम करने के लिए बच्चों को प्रतिदिन अधिक नींद की जरूरत होती है: नवजात शिशु के लिए 18 घंटे तक, इसके बाद उम्र बढ़ने के साथ-साथ इसमें कमी आती जाती है। एक नवजात शिशु रोजाना लगभग 9 घंटे की REM नींद लिया करता है। पांच वर्ष की आयु तक या उससे ऊपर, केवल दो घंटे से ज़रा ज्यादा REM नींद लिया करता है।

उम्र और स्थिति प्रति दिन औसत नींद

नवजात 18 घंटे तक
1–12 महीने 14–18 घंटे
1–3 वर्ष 12–15 घंटे
3–5 वर्ष 11–13 घंटे
5–12 वर्ष 9–11 घंटे
किशोरवय 9–10 घंटे
बुजुर्ग समेत वयस्क 7–8(+) घंटे
गर्भवती महिलाएं 8 (+) घंटे

खराब नींद के कई कारण हैं। निम्नलिखित स्वास्थ्यकर नींद के सिद्धांत शारीरिक या भावनात्मक समस्याओं का हल हो सकते हैं।[54] जब इसके पीछे वजह दर्द, बीमारी, दवाएं, या तनाव है, तो इसके कारण का इलाज किया जाना चाहिए। (प्राथमिक, एस (सहित निद्रा अश्वसन, औंघना (narcolepsy), प्राथमिक बेचैनी से अंग आंदोलन विकार (PLMD), रेस्टलेस लेग सिंड्रोम (RLS (आरएलएस)) और सिर्काडियन रिदम निद्रा विकार (circadian rhythm sleep disorders) समेत) निद्रा विकार इलाज योग्य हैं।

लोग अलग-अलग किस्म के स्थानों पर सोते हैं। कोई सीधे जमीन पर सो जाता है, दूसरा कोई किसी चादर या कंबल पर और कुछ लोग तख्ती या खाट पर सोते हैं। कुछ कंबल पर, कुछ तकियों के साथ, कुछ साधारण सिरहाने के साथ और कुछ सिर को बगैर कोई सहारा दिए सोते हैं।

अगर रात को आपको ठीक से नींद नहीं आती है तो अगले पूरे दिन आप थका हुआ व तनावग्रस्त महसूस करेंगे। स्वस्थ रहने के लिए जितना आहार है उतना ही जरूरी है अच्छी नींद भी लेना।

हर व्यक्ति चाहता हैं कि दिनभर की थकान के बाद उसे अच्छी नींद जरूर मिले, लेकिन कई बार अधिक थकान होने के कारण नींद में खलल हो जाती है, ऐसी स्थिति में रात में स्नान आपकी नींद को बेहतर बनाता है, आइए हम आपको इसके बारे में (Benefits of bathing) विस्तार रूप से बताते हैं।

1. ठंडे या गर्म पानी से स्नान

अगर आप गर्म पानी से नहाते हैं तो आपका रक्त-संचार पहले कुछ उतेजित होगा है लेकिन बाद में मंद पड़ जायेगा है,जो की आपकी सेहत के लिए सही नहीं हैं ।  लेकिन अगर आप ठंडे पानी से नहाते हो तो आपका रक्त-संचार पहले मंद पड़ता है और बाद में उतेजित होता है जो कि आपके लिए लाभदायक है। वैज्ञानिकों के अनुसार ठंडा पानी हमारे दिमाग को ठंडा बनाए रखने में सहायक होता है।आपकी दिन की शुरूआत अगर ठंडे पानी से हो, तो इससे पूरे दिन ताजगी बनी रहती है। इसके अलावा इससे आपका शारीरिक सौन्दर्य भी निखरता है।

2. अच्छी नींद Better Sleep

अगर आप रात को सोने से पहले स्नान करते हैं तो आपकी दिनभर की थकान एकदम से दूर हो सकती है और जिससे आपको बहुत अच्छी नींद आयेगी । स्नान में यदि कुछ एसेंस ऑयल का इस्तेमाल कर लें , तो आप अपनी नींद को और भी बेहतर बना सकते है, और साथ ही आपको इससे एक अलग ही शांति का अनुभव होगा। सोने से पहले ठंडे पानी से स्नान करने से आपके शरीर का तापमान ठीक रहता है जिससे आपको अच्छी नींद (Better Sleep) मिल सकती है।

Better Sleep Tips in Hindi अच्छी नींद कैसे लाये

3. त्वचा में आएगी चमक

स्किन विशेषज्ञ का मानना है कि ठंडे पानी से नहाने से आपके बाल अच्छे बने रहते हैं और त्वचा चमकदार बनी रहती है। और हाँ …….अगर आप पिंपल्स से परेशान हैं तो ठंडे पानी से नहाइए इससे आपकी त्वचा रूखी और बेजान होने से भी बच जाएगी। ठंडा पानी आपकी त्वचा को बेहद चमकदार बनाता है।

4. बढ़ता है Immunity Level

ठंडे पानी के स्नान से आपकी इम्युनिटी ( रोग प्रतिकार शक्ति ) भी मजबूत होती है। ठंडे पानी से नहाने से इम्यूनिटी लेवल बढ़ जाता है। ठंडे पानी से नहाने से ब्लड सर्कुलेशन नॉर्मल बना रहता है। इम्यूनिटी लेवल बढ़ने से शरीर में वाइट ब्लड आपके सेल्स को बढ़ाता है जो बहुत सी बीमारियों से लड़ने में आपकी मदद करता है जिससे आप कम बीमार पड़ते हैं।

5. कम होता है मोटापा Weight Loss Tips

हमारे शरीर में दो तरह के फैट पाये जाते हैं, पहला- वाइट फैट जो हमारे शरीर के लिए हानिकारक होता है और दूसरा है- ब्राउन फैट जो हमारे लिए  लाभदायक होता है। हम जो भी खाना खाते हैं उससे वाइट फैट बनता है, और यह फैट हमारे शरीर के कई हिस्सों में जमा हो जाता है जो की बहुत ही ज्यादा खतरनाक होता हैं ।  विशेषज्ञों का मानना हैं कि जब हम बहुत ज्यादा ठंडे या गर्म पानी से नहाते हैं तो हमारी कैलोरी बर्न होने लगती है और जिससे हम आसानी से अपने शरीर वेट कम कर सकते हैं।

6. मूड फ्रेश रहता है

विशेषज्ञों का मानना हैं कि ठंडे पानी से नहाने से आपका मूड फ्रेश रहता है। यह आलस्य दूर करने का सबसे अच्छा तरीका है, ठंडे पानी से नहाए। क्योंकि जब आप ठंडे पानी से नहाते हैं, तो आपको हल्का सा शॉक लगता है जिससे आपकी हार्ट बीट तेज हो जाती है। इससे आपके शरीर का ब्लड सर्कुलेशन अधिक हो जाता है और आप तरोताजा महसूस करते हैं।

7. हाई ब्लड प्रेशर में कमी

लेकिन बुख़ार के समय गर्म पानी से नहाने से पसीना निकलने से शरीर जल्दी ठंडा होता है। गर्म पानी से नहाने पर आपको सर्दी में भी आराम मिलता है।गर्म पानी से भरे टब में पंद्रह मिनट का स्नान हाई ब्लड प्रेशर में कमी लाता है।

विशेषज्ञों के मुताबिक गर्म पानी में नहाने से ब्लड शुगर का स्तर कम होता है। इससे उन लोगों को राहत पहुंचती है जो टाइप 2 डायबिटीज से पीडि़त हैं। गर्म पानी से रक्त संचार तेज होता है, जिससे शुगर का स्तर नियंत्रण में रहता है। और आपको रात में एक सुकून वाली नींद (Better Sleep)आती है।

loading...

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 + 7 =