HomeEssay

Knowledge is Power Essay in Hindi : ज्ञान ही शक्ति है पर निबंध

Like Tweet Pin it Share Share Email

ज्ञान क्या हैं? ज्ञान की परिभाषा इन हिंदी

ज्ञान को ही मनुष्य की वास्तविक शक्ति माना गया है। वास्तविक वस्तु वह है जो सदैव रहने वाली हो संसार में हर वस्तु काल पाकर नष्ट हो जाती है। धन नष्ट हो जाता है, तन जर्जर हो जाता है, साथी और सहयोगी छूट जाते हैं। केवल ज्ञान ही एक ऐसा अक्षय तत्व है, जो कहीं भी किसी अवस्था और किसी काल में मनुष्य का साथ नहीं छोड़ता। धन, जन को भी मनुष्य की एक शक्ति माना गया है। किन्तु यह उसकी वास्तविक शक्तियाँ नहीं है। इनका भी मूल स्रोत ज्ञान ही है। ज्ञान के आधार पर ही धन की उपलब्धि होती है |

What is Knowledge in Hindi?

निरपेक्ष सत्य की स्वानुभूति ही ज्ञान है। यह प्रिय अप्रिय सुख-दू:ख इत्यादि भावों से निरपेक्ष होता है। इसका विभाजन विषयों के आधार पर होता है। विषय पाँच होते हैं – रूप, रस, गंध, शब्द और स्पर्श।

ज्ञान लोगों के भौतिक तथा बौद्धिक सामाजिक क्रियाकलाप की उपज ; संकेतों के रूप में जगत के वस्तुनिष्ठ गुणों और संबंधों, प्राकृतिक और मानवीय तत्त्वों के बारे में विचारों की अभिव्यक्ति है। ज्ञान दैनंदिन तथा वैज्ञानिक हो सकता है। वैज्ञानिक ज्ञान आनुभविक और सैद्धांतिक वर्गों में विभक्त होता है। इसके अलावा समाज में ज्ञान की मिथकीय, कलात्मक, धार्मिक तथा अन्य कई अनुभूतियाँ होती हैं। सिद्धांततः सामाजिक-ऐतिहासिक अवस्थाओं पर मनुष्य के क्रियाकलाप की निर्भरता को प्रकट किये बिना ज्ञान के सार को नहीं समझा जा सकता है। ज्ञान में मनुष्य की सामाजिक शक्ति संचित होती है, निश्चित रूप धारण करती है तथा विषयीकृत होती है। यह तथ्य मनुष्य के बौद्धिक कार्यकलाप की प्रमुखता और आत्मनिर्भर स्वरूप के बारे में आत्मगत-प्रत्ययवादी सिद्धांतों का आधार है।

Knowledge Meaning in Hindi – ज्ञान

“ज्ञान शक्ति है”, फ्रेंसिस बेंकन का कथन है। “ज्ञान शक्ति है”, का अर्थ है: अधिक ज्ञान को रखने वाला एक व्यक्ति, जो जीवन की हरेक परिस्थिति को क्रमानुसार नियंत्रित करने में सक्षम हो। “ज्ञान शक्ति है” का वास्तविक अर्थ है कि, यदि किसी व्यक्ति के पास पूरा ज्ञान हो, तो वह संसार में सबसे अधिक शक्तिशाली हो सकता है और उसे जीवन में किसी भी अन्य वस्तु की आवश्यकता नहीं रहती; जैसे- किसी की सहायता, मित्रों, आदि की। ज्ञान लोगों को शक्ति प्रदान करने वाला सबसे मजबूत उपकरण है, जिसे पृथ्वी पर किसी अन्य शक्ति से नहीं हराया जा सकता है। उन लोगों पर निश्चित पकड़ बनाने के लिए, जिन्हें समझ नहीं है, ज्ञान लोगों को सामाजिक शक्ति प्रदान करता है। ज्ञान और शक्ति एक व्यक्ति के जीवन की विभिन्न कठिनाईयों में मदद करने के लिए सदैव साथ में चलती है। हम यह कह सकते हैं कि ज्ञान शक्ति देता है, और शक्ति ज्ञान प्रदान करती है।

प्रसिद्ध व्यक्तित्व, फ्रेसिस बेकन के द्वारा कहा गया कथन, ““ज्ञान शक्ति है””, प्रसिद्ध और सच्ची कहावत है। ज्ञान मनुष्य और जानवरों के बीच अन्तर करने में मदद करता है। मनुष्य के पास मस्तिष्क होता है और उसी के अनुसार उसका प्रयोग करने की क्षमता भी, इसी कारण मनुष्य को पृथ्वी पर प्रकृति के द्वारा सबसे शक्तिशाली और बुद्धिमान प्राणी कहा जाता है। ज्ञान लोगों के व्यक्तित्व को सुधारने में मदद करता है: यह आत्मविश्वास का निर्माण करता है और जीवन में कठिन कार्यों को करने के लिए धैर्य धारण करना सिखाता है। हम ज्ञान को गॉडमदर कह सकते है क्योंकि यह सभी खोजों, अविष्कारों और अन्वेषण के लिए राह प्रदान करता है।

Essay on Knowledge in Hindi ज्ञान पर निबंध

ज्ञान को प्राप्त करने की कोई सीमा नहीं है; यह व्यक्तिगत रुप से पूरे जीवन भर किसी भी आयु तक प्राप्त किया जा सकता है। ज्ञान प्राप्त करना लगन, धैर्य और नियमितता की एक लम्बी प्रक्रिया है। यह असीमित धन की तरह है, जो कभी खत्म नहीं हो सकता हालांकि, जरुरतमंद लोगों में ज्ञान बाँटकर इसके स्तर को बढ़ाया जा सकता है। एक व्यक्ति नियमित रुप से चीजों को परख कर और प्रयोग करने के द्वारा कुछ नया ज्ञान प्राप्त कर सकता है। प्रत्येक मनुष्य समान गुणों, मस्तिष्क, और शक्ति के साथ जन्म लेता है हालांकि, जब वह बढ़ता/बढ़ती है, तो अलग गुण, मस्तिष्क और शक्ति को विकसित कर लेता/लेती है: ये सभी अन्तर प्रत्येक व्यक्ति के ज्ञान के स्तर में अन्तर के कारण होते हैं। उदाहरण के लिए: न्यूटन ने गुरुत्वाकर्षण की खोज की और ऐसे बहुत से प्रसिद्ध वैज्ञानिक हैं, जिन्होंने अपने जीवन में कई आश्चर्यजनक अविष्कार किए। ये सभी ज्ञान की शक्ति के कारण ही संभव हुआ।

विभिन्न देशों के द्वारा मिलकर या वैयक्तिक रुप से की गई आधुनिक तकनीकी की खोजों ने, देशों को अन्य देशों से आर्थिक और सैन्य रुप से बहुत अधिक शक्तिशाली बना दिया है, ये सभी ज्ञान पर ही आधारित है। सफलता के पीछे का रहस्य ज्ञान की शक्ति है, जो अंततः एक व्यक्ति को नाम, धन और प्रसिद्धी देता है। भारत ने भी विज्ञान, शोध, चिकित्सा, शिक्षा आदि के क्षेत्रों में बहुत कार्य किए हैं, लेकिन आज भी कई क्षेत्रों में निरंतर प्रयासों के बाद भी एक विकासशील देश है, जो अब ज्ञान के आधार पर विभिन्न क्षेत्रों में विकास करने के द्वारा शक्तिशाली देश बनने के लिए निरंतर प्रयासरत है। मनुष्य या किसी भी देश की प्रगति विभिन्न क्षेत्रों में सकारात्मक और रचानात्मक तरीके से ज्ञान की वृद्धि पर निर्भर करती है। ज्ञान का विनाशक और नकारात्मक तरीके से प्रयोग पृथ्वी पर जीवन के अस्तित्व को बड़े स्तर पर खतरे में डाल सकता है।

फ्रेसिस बेंकन ने कहा है कि, ज्ञान अपने आप में एक शक्ति है, जो सबकुछ बदलने की क्षमता रखता है। परिस्थितियों को संभालने, योजना बनाने, योजनाओं को कार्य रुप में बदलने और असंभव चीजों को संभव बनाने का रास्ता ज्ञान देता है। यदि किसी के पास पूरा ज्ञान है तो, वह दुनिया का सबसे भाग्यशाली और धनवान व्यक्ति होगा/होगी, क्योंकि ज्ञान को न तो कभी चुराया जा सकता है और न ही लूटा जा सकता है और यहाँ तक कि दूसरों को बाँटने पर घटता भी नहीं है। वास्तव में, “ज्ञान शक्ति है” और हम कह सकते हैं कि, इस संसार में सबसे ताकतवर शक्ति ज्ञान है।

loading...

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 − 9 =