HomeEssay

Healthy Food Essay in Hindi : संतुलित आहार पर निबंध, चार्ट & महत्व

Like Tweet Pin it Share Share Email

What is Healthy Food in Hindi?

Healthy food is food considered beneficial to human health and a healthy diet required for human nutrition.

Foods marketed as “healthy” may be natural foods, organic foods, whole foods, and sometimes vegetarian or dietary supplements. Such products are sold in health food stores or in the health/organic sections of supermarkets.

संतुलित आहार क्या है? संतुलित आहार की परिभाषा-

स्वस्थ आहार वह है जोकि स्वास्थ्य को बनाए रखने या उसे सुधारने में मदद करता है। यह कई चिरकालिक स्वास्थ्य जोखिम जैसे कि: मोटापा, हृदय रोग, मधुमेह और कैंसर की रोकथाम के लिए महत्वपूर्ण है।

एक स्वस्थ आहार में समुचित मात्रा में सभी पोषक तत्वों और पानी का सेवन शामिल है। पोषक तत्व कई अलग खाद्य पदार्थों से प्राप्त किए जा सकते हैं, अतः विस्तृत विविध आहार मौजूद हैं जिन्हें स्वस्थ आहार माना जा सकता है। स्वस्थ्य आहार हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है ।

1990 के दशक के मध्य तक उच्च कोलेस्ट्रॉल संबंधी आशंकाओं पर अक्सर आवाज उठाई गई। तथापि, अभी हाल के अनुसंधान ने दर्शाया है कि जब कोलेस्ट्रॉल के दुष्प्रभाव की बात की जा रही हो, उच्च और न्यून-घनत्व के लिपोप्रोटीन (क्रमशः ‘अच्छे’ और ‘बुरे’ कोलेस्ट्रॉल) के बारे में समाधान होना चाहिए। विभिन्न प्रकार के आहार वसा का कोलेस्ट्रॉल के रक्त स्तरों पर अलग-अलग प्रभाव होता है। उदाहरण के लिए, बहुअसंतृप्त वसा कोलेस्ट्रॉल के दोनों प्रकार को कम करने की ओर प्रवृत्त होते हैं; एकसंतृप्त वसा LDL को कम और HDL को बढ़ाने की ओर प्रवृत्त होते हैं; संतृप्त वसा या तो HDL को बढ़ाने या HDL और LDL दोनों को बढ़ाने की ओर प्रवृत्त होते हैं; और, पार वसा LDL को बढ़ाने और HDL को कम करने की ओर प्रवृत्त होते हैं। स्वयं आहार कोलेस्ट्रॉल केवल मांस, अंडे और डेयरी जैसे पशु उत्पादों में ही पाया जाता है, लेकिन अध्ययनों से पता चला है कि बड़ी मात्रा में आहार कोलेस्ट्रॉल का केवल ख़ून के कोलेस्ट्रॉल पर नगण्य प्रभाव पड़ता है।

सीधे बच्चों के लिए बाज़ार में बेचे जाने वाले बड़े पैमाने पर उत्पादित, संसाधित, “हल्का नाश्ता” या “मीठे” उत्पादों के बारे में मीडिया कवरेज ने खाने की आदतों में सुधार संबंधी नीतिपरक प्रभावों को क्षति पहुंचाने का काम किया है। ऐसे विज्ञापनों से खाद्य पदार्थों के लिए प्रमुख समस्या यह है कि शराब और फ़ास्ट फ़ुड को उत्तेजना, पलायन और तत्काल परितोष देने वाले के रूप में चित्रित किया जाता है।

विशेष रूप से पिछले पांच वर्षों में सरकारी एजेंसियों ने “जंक” खाद्य पदार्थों पर मीडिया कवरेज के लिए खर्च की गई राशि और विधि से निपटने का प्रयास किया है। सरकार कारोबारों पर भी स्वस्थ भोजन विकल्प को बढ़ावा देने के लिए दबाव डालती है, राज्य द्वारा संचालित विद्यालयों में जंक फ़ुड की उपलब्धता को सीमित करने और उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थों पर कर लगाने पर विचार करती हैं। अभी हाल ही में, यूनाइटेड किंगडम ने मॅकडोनॉल्ड्स के अपने उत्पादों को विज्ञापित करने के अधिकार को हटा दिया, चूंकि देखा गया कि अधिकांश कम पोषक तत्व वाले खाद्य पदार्थ “ख़ुशनुमा भोजन” की आड़ में बच्चों के प्रति लक्षित किए गए थे।

संतुलित आहार चार्ट इन हिंदी

सुबह-सुबह – सुबह की शुरूआत ज्‍यादा भारी खाने से बचें। आप एक गिलास दूध मलाई रहित लीजिए, इसके अलावा 3-4 बादाम भी दूध के साथ ख सकते हैं।

सुबह नौ बजे – यह समय ब्रेकफास्‍ट का है, ज्‍यादातर लोग इस समय अपने काम की शुरूआत करते हैं। नाश्‍ते में अंकुरित अनाज एक प्लेट मिक्स या वेजीटेबल उपमा ले सकते हैं। इसके साथ ग्रीन टी या एक गिलास जूस भी फायदेमंद होगा।

दोपहर यानी लंच – दोपहर 12 बजे लंच का समय होता है। इस समय खाना खा सकते हैं। दो चपाती चौकर सहित, छिलके वाली दाल एक कटोरी, चावल आधा कटोरी, हरी सब्जी एक कटोरी, दही एक कटोरी, सलाद एक प्लेट शामिल करना आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होगा साथ ही इनमें भरपूर मात्रा में पोषण होता है जो शरीर को हेल्‍दी रखता है।

तीन या चार बजे के बीच – लंच करने के लगभग तीन घंटे बाद हल्‍का सा नाश्‍ता करना चाहिए। इसके लिए चाय एक कप, भेल एक प्लेट या दो बिस्किट, कोई भी सीजनल एक फल (इसमें सेव, संतरा, कच्चा जाम, अनार, नाशपती आदि) ले सकते हैं।

रात यानी डिनर – डिनर में दोपहर जैसा खाना ले सकते हैं। रात के खाने में चावल ज्‍यादा मात्रा में शामिल न करें। इसमें दाल, दो चपाती, हल्‍का चावल, एक कप दही और एक प्‍लेट सलाद लीजिए। सोनेसे करीब तीन घंटे पहले डिनर करना चाहिए, इससे खाना अच्‍छे से डाइजेस्‍ट हो जाता है और पेट की समस्‍या (कब्‍ज और एसिडिटी) नही होती है।

सोने से पहले – डिनर करने के करीब एक घंटे बाद एक फल या दूध आधा गिलास लीजिए, जूस भी ले सकते हैं।

डाइट चार्ट बनाने के बाद उसका नियमित पालन कीजिए, पानी ज्‍यादा पीजिए। हल्के-फुल्के व्यायाम तथा सुबह की सैर को अपनी दिनचर्या में अवश्य शामिल करना चाहिए।

loading...

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 − three =